विज्ञान सत्यमाविष्करोति -- सत्यं न्यायधितिष्ठिति

लोकनायक जयप्रकाश नारायण

राष्ट्रीय अपराधशास्त्र एवं विधि-विज्ञान संस्थान

भारत सरकार

(गृह मंत्रालय)

     
  निदेशक का संदेश

लोकनायक जयप्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराधशास्त्र एवं विधि-विज्ञान संस्थान (लोनाजना राअविविसं) सन् 1971 में स्थापित किया गया जो पिछले 34 वर्षों से राष्ट्र की सेवा कर रहा है । प्रारंभ में इस संस्थान की स्थापना अपराध शास्त्र एवं विधि विज्ञान के क्षेत्र में शिक्षण, अनुसंधान तथा परामर्श प्रदान करने के उद्देश्य से की गई थी । बाद के वर्षों में यह संस्थान प्रगति के पथ पर अग्रसर रहा । न्यायतंत्र, पुलिस, सुधार सेवाओं, अभियोजन, चिकित्सा अधिकारी तथा रक्षा एवं सार्वजनिक प्रतिष्ठानों के अधिकारियों के साथ-साथ राज्य तथा केन्द्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं के वैज्ञानिक 30,000 से अधिक संख्या में अब तक इस संस्थान में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं ।

वर्ष 2004 में इस संस्थान में अपराध शास्त्र तथा विधि विज्ञान विषयों में एम../एम.एस.सी. पाठ्यक्रमों का संचालन प्रारंभ किया गया है । ये पाठ्यक्रम गुरु गोविंद सिंह इन्द्रप्रस्थ विश्व विद्यालय, दिल्ली से संबद्ध हैं । इन पाठ्यक्रमों के प्रथम बैच के विद्यार्थी मई 2006 में कोर्स समाप्त करेंगे । देश में अपराधशात्रीयों तथा विधि वैज्ञानिकों की अत्यंत कमी है । अतः इन युवा विद्यार्थियों की अत्यधिक माँग प्रत्याशित है । इस संस्थान द्वारा देश में विभिन्न विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं के नव- नियुक्त विधि वैज्ञानिकों के लिए फाउन्डेशन कोर्स का संचालन किया जाता है । इसके अतिरिक्त, वर्ष 2005 के दौरान, सूडान गणराज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं के लिए सोलह युवा विधि वैज्ञानिकों को प्रशिक्षित करने का विशेषाधिकार भी इस संस्थान को प्राप्त हुआ ।

यह संस्थान विधि प्रक्षेपिकी, विधि रसायन तथा विष विज्ञान, विधि फोटोग्राफी, विधि प्रलेख जाँच एवं विधि जीव विज्ञान के क्षेत्र में निर्देशन सुविधाएं (Referral Facilities) उपलब्ध कराता है । मैं आशा करता हूँ कि डीएनए प्रयोगशाला तथा स्वर पहचान प्रयोगशाला शीघ्र ही स्थापित की जाएगी । कंप्यूटर विधि प्रयोगशाला स्थापित करने की दिशा में भी प्रयास जारी है ।

हमारा यह घ्येय रहा है कि इस संस्थान में प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों तथा कार्यशालाओं में भाग लेने वाले और शिक्षण कार्यक्रम के विद्यार्थियों को सैद्धान्तिक एवं प्रयोगात्मक कार्य की नींव निर्माण का ठोस वातावरण प्राप्त हो सके जिससे वे अपने क्षेत्र में विशेष निपुणता प्राप्त कर चुनौतीपूर्ण स्थितियों का सामना करने योग्य बनें । इन क्षेत्रों की महत्वपूर्ण हस्तियों से आपसी संवाद करने तथा बेहतर भरोसे के साथ सौंपे गए कार्यों को करने के लिए, इन कार्यक्रमों की सफलतापूर्ण समाप्ति के बाद, उनमें गहन ज्ञान विकासित होगा एवं विश्वास पैदा होगा ।

मैं इस सुअवसर पर संस्थान की वेबसाइट पर आपका स्वागत करता हूँ । इसमें सुधार के लिए आपके सुझावों का स्वागत है ।

deysUnz izlkn

निदेशक

कु छ झ ल कि याँ

देश के आपराधिक न्याय प्रशासन की मूल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अपराध शास्त्र एवं विधि विज्ञान के क्षेत्र में शिक्षण, प्रशिक्षण, अनुसंधान एवं परामर्श हेतु व्यापक सुविधा के रूप में जनवरी 1971 में लोक नायक जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराध शास्त्र एवं विधि विज्ञान संस्थान की स्थापना की गई थी । यह संस्थान भारत सरकार, गृह मंत्रालय के एक संबद्ध कार्यालय के रूप में कार्य करता है ।

लोक नायक जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराध शास्त्र एवं विधि विज्ञान संस्थान की विशेषताएं

*

एक ही स्थान पर अपराध शास्त्र एवं विधि विज्ञान दोनों विषयों में प्रशिक्षण, शिक्षण तथा अनुसंधान के लिए व्यापक सुविधाएं उपलब्ध कराने वाला यह एक मात्र संस्थान है ।

*

आपराधिक न्याय तंत्र से जुड़े सभी वर्गों के कार्यकर्ताओं के लिए मिले-जुले समूहों में प्रशिक्षण कार्यक्रम के आयोजनार्थ अपराध शास्त्र एवं विधि विज्ञान, दोनों विषयों में प्रशिक्षण, शिक्षण एवं अनुसंधान के लिए व्यापक सुविधाएं मुहैया कराने वाला यह एक मात्र संस्थान है ।

*

यही एक नोडल संस्थान है जहाँ देश में कार्यकारी विधि वैज्ञानिकों के लिए औपचारिक प्रशिक्षण का प्रबंध है ।

*

केवल इसी संस्थान द्वारा, कार्यकारी विधि वैज्ञानिकों को आवश्यकता आधारित पेशेवर शिक्षा पाठ्यक्रम पूरा करने के उपरांत डिप्लोमा एवं प्रमाणपत्र प्रदान किए जाते हैं ।

*

यह संस्थान देश के कई विश्व विद्यालयों द्वारा डॉक्टरेट एवं डॉक्टरेट डिग्री प्राप्त करनें के बाद किए गए अकादमिक कार्य से संबंधित अनुसंधानकर्ताओं के लिए अनुसंधान केन्द्र के रुप में मान्यता प्राप्त है ।

*

यह संस्थान आपराधिक न्याय प्रक्रिया से संबंधित सभी क्षेत्रों के शिक्षक एवं वैज्ञानिकों के बीच निरंतर, उद्देश्यपूर्ण आपसी संवाद बनाए रखता है ।

 

                       प्रवेश संबंधी अधिसूचना                  संगोष्ठियाँ/ सम्मेलन/ विचार गोष्ठियाँ

         

                 नौकरी के लिए उपलब्ध अपराधशास्त्र एवं विधि विज्ञान विशेषज्ञ


संगोष्ठियां

पत्रिकाएं

सार

अनुदेश

पाठ्यक्रम कैलेन्डर

सूचना बुलेटिन

लोकनायक जयप्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराधशास्त्र एवं विधि-विज्ञान संस्थान भारत सरकार (गृह मंत्रालय),वाहरी रिंग रोड, सेक्टर-3, रोहिणी, दिल्ली-110085,

दूरभाष-27521091,27522564,27514161, फैक्स-27511571

                                                      Tenders                                                             Current Openings